0

खोदकर निकाले गए इन जानवरों ने बेइंतेहा ठंड के आगे घुटने टेक दिए

हमारी प्रकृति बेहद ताकतवर है ज्यादातर लोगों को इसकी ताकत का अंदाजा नहीं हो पाता। कभी-कभी प्रकृति हमें अपने रौद्र रूप के दर्शन करा देती है। यह नजारा बेहद चौंकाने वाला होता है। आज हम अपनी वेबसाइट पर आपके लिए ऐसा आर्टिकल लेकर आए हैं जिसके द्वारा आपको प्रकृति की ताकत का अंदाजा हो जाएगा।

हमारी धरती पर कई अलग अलग तरह की जलवायु और मौसम देखने को मिलते हैं। माना जाता है कि धरती का मौसम और जलवायु बहुत ही स्थिर है खासकर दूसरे ग्रहों के मुकाबले। इसलिए यहां पर जीवन पनपने के ज्यादा अफसर हैं। इस सिर्फ जलवायु के कारण ही यहां पर करोडों तरह की वनस्पतियां देखने को मिलती है इसके अलावा करोड़ों तरह के जीव जंतु भी इस धरती को अपना घर बनाए हुए हैं।

परंतु कभी-कभी धरती अपना रौद्र रूप धारण कर लेती है। तब हमें इसकी ताकत का अंदाजा होता है। आंधी तूफान में जान माल की बहुत हानि होती है लेकिन बहुत अधिक गर्मी और बहुत अधिक ठंड पड़ने पर भी जीव जंतुओं की जान जा सकती है। धरती पर कुछ ऐसे इलाके हैं जहां पर तापमान शून्य से 30-40 डिग्री नीचे चला जाता है। ऐसी जगहों पर बहुत कम जीव-जंतु और इंसान रह पाते हैं।

बर्फ में जमने जैसी घटनाएं हमें अक्सर खबरों में सुनने को मिलती हैं। कभी-कभी पूरी झील जम जाती है और झील में रहने वाली मछलियां और दूसरे जीव-जंतु भी इसके साथ ही जम जाते हैं। इन जीव-जंतुओं की दुखद मौत का जिम्मेदार सिर्फ कुदरत है। पुराने जमाने के लोग मानते थे कि हमें कुदरत का सम्मान करना चाहिए। यदि हम कुदरत का सम्मान करेंगे तो कुदरत भी हमारा सम्मान करेगा।

आज हम अपने आर्टिकल में आपके लिए कुछ बेहद चौंकाने वाली तस्वीरें लेकर आए हैं। दुनिया के अलग-अलग इलाकों में खींची गई यह तस्वीरें आपको हैरत में डाल देंगी। इन तस्वीरों में कुछ जानवर बर्फ में जम कर कैद हो चुके हैं। जिसकी वजह से इन्हें अपनी जान गवानी पड़ी। इन सब की कहानी अलग अलग है। चलिए इन सभी तस्वीरों को देखते हैं।

Animals Found Frozen

1. नॉर्वे की झील

साल 2014 में नॉर्वे के एक छोटे से आईलैंड पर मौजूद यह झील पूरी तरह से जम गई थी। वैसे तो तापमान माइनस 7.8 डिग्री सेल्सियस था परंतु तेज ठंडी हवाओं के कारण यह झील लगभग पूरी तरह से जम गई। जब सुबह स्थानीय लोगों ने झील में जमी हुई मछलियों को देखा तो है आश्चर्यचकित रह गए। क्योंकि ऐसा नजारा उन्होंने पहले कभी नहीं देखा था। दरअसल मछलियों का झुंड किसी शिकारी से बचने के लिए जमी हुई सतह के ऊपर आ गया और वापस पानी में नहीं जा पाया। जिसकी वजह से सभी मछलियां जम गई और उनकी मौत हो गई। वैसे झील के जमने की यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी नॉर्वे में इस तरह की घटनाएं हो चुकी है।

 

animals frozen alive

source; Daily Mail

2. जमी हुई लोमड़ी

वर्ष 2017 में जर्मनी में रहने वाले एक शिकारी ने इंटरनेट पर एक तस्वीर पोस्ट की जिसमें बस के अंदर एक लोमड़ी पूरी तरह से जमी हुई दिखाई दे रही थी। यह तस्वीर आश्चर्य में डालने वाली थी और ज्यादातर लोगों को यह तस्वीर फेक लगी। परंतु जब दूसरे स्रोतों से भी यह तस्वीर मीडिया तक पहुंचने लगी तब इस तस्वीर की सच्चाई सामने आई। दरअसल जर्मनी में रहने वाले एक शिकारी ने नदी के अंदर जमी हुई लोमड़ी को बर्फ के साथ ही काटकर बाहर निकाला और अपने होटल के बाहर रख दिया। वह लोगों को नदी के खतरों से अवगत कराना चाहता था। इस शिकारी का कहना है कि उसने भालू और जंगली सूअरों को भी नदी में जमे हुए देखा है।

animals frozen alive

Source:

3. फ्रोजेन फिश

2015 में साउथ डकोटा में स्थित Lake Andes National Wildlife Refuge सूखे से जूझ रही थी। इसी बीच वहां पर जमा देने वाली ठंड भी पड़ गई। पानी कम होने की वजह से यह झील पूरी तरह से जम गई। इस झील में मौजूद मछलियां भी पानी के साथ ही जम गई और सतह पर आ गए। इन मरी हुई मछलियों ने कई तरह के पक्षियों को आकर्षित किया और एक बहुत ही अद्भुत नजारा देखने को मिला।

animals frozen alive

Source : meduim

4. फ्रोजन मूस

2014 में नॉर्वे में रहने वाली एक 47 वर्षीय महिला को अपने घर के पास मौजूद बोबो नाम की झील में एक जमा हुआ मूस दिखाई दी। इस महिला के अनुसार झील के इस हिस्से से मूस झील को पार करने की कोशिश करते हैं। शायद यह मूस झील को पार करने की कोशिश करते हुए बर्फ में जम गया था। यह तस्वीर बहुत ही दुखद है।

animals frozen alive

Source: thelocal

5. मेंढक

मेंढक दूसरे जीव जंतुओं से अलग होता है। वह कई हफ्तों तक जमे रहने के बाद भी नहीं मरता। वैज्ञानिक मेंढक की इस काबिलियत पर अध्ययन कर रहे हैं। दूसरे जीव जंतुओं को जमाने पर उनका दिमाग पूरी तरह से नष्ट हो जाता है लेकिन मेंढक का दिमाग बर्फ में जमे रहने के बाद सुरक्षित रहता है। जब गर्मियों का मौसम लौटता है तो मेंढक फिर से जीवित हो जाता है। नॉर्वे की यह तस्वीर एक मेंढक की है जो सर्द मौसम में पूरी तरह से जम गया है और शीत निंद्रा में चला गया है।

animals frozen alive

Source: dailymail

6. जापान का स्केटिंग पार्क

यह तस्वीरें प्राकृतिक नहीं है बल्कि इस जगह को इंसान ने बनाया है। 2015 में स्पेस वर्ल्ड एम्यूजमेंट पार्क नाम की जगह में लगभग 5000 समुद्री जीव जंतुओं को बर्फ में जमाया गया था। इसे देखने हर रोज हजारों लोग आते हैं। जब ये तस्वीरें इंटरनेट पर वायरल हुई तो इसके मालिक को लोगों की आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा।

Source: telegraph

7. साइबेरियन टाइगर

रूस के साइबेरिया में रहने वाले बाग जमा देने वाली सर्दी भी जेल सकते हैं लेकिन यदि वह किसी नदी या झील में गिर जाए तो उनका बचना नामुमकिन होता है। 2016 की सर्दियों में कुछ खोजकर्ताओं को एक झील में जमा हुआ साइबेरियन टाइगर मिला। रूस की सरकार ने इस टाइगर को बर्फ के साथ ही बाहर निकाला और इसे चिड़ियाघर में रख दिया ताकि आम दर्शक भी इसे देख सकें।

animals frozen alive

 

 

8. गोता लगाने वाला पक्षी

आप सोच रहे होंगे कि बर्फ में तो सिर्फ मछलियां ही जम सकती हैं लेकिन कई बार बर्फ में पक्षी भी जम जाते हैं। दरअसल यह पक्षी नदी में गोता लगाकर अपना शिकार पकड़ता है शायद इस पक्षी ने जमी हुई झील में गोता लगाया होगा जिसके कारण बर्फ की सतह टूट गई होगी और यह पक्षी बर्फ के नीचे ही कैद हो गया होगा।

 

9. लोमड़ी

जब तेज ठंड पड़ती है तो लोमड़ी एक ही जगह पर कई घंटों तक बैठी रह सकती है। ऐसा करके वह अपने शरीर की गर्मी बनाए रखती है लेकिन जब तापमान माइनस 30 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाए तो उसके बचने की संभावना बहुत कम होती है। ऐसा ही कुछ 2017 में कनाडा के बीहड़ों में रहने वाली एक लोमड़ी के साथ हुआ जो हाईवे के नजदीक जमी हुई अवस्था में मिली।

 

10. युका मैमथ

शायद ही कोई हो जो मैमथ के बारे में न जानता हो। अब तक मैमथ के सैंकड़ों फॉसिल खोद कर निकाले जा चुके हैं। मैमथ परंतु इसका पसंदीदा घर साइबेरिया था। साइबेरिया में आज भी मैमथ के पूरी तरह से सुरक्षित फॉसिल मिलते हैं। 2016 में अब तक का सबसे अच्छी तरीके से सुरक्षित फॉसिल मिला था। यह पहली बार था जब मैमथ के फॉसिल में उसका मस्तिष्क भी पूरी तरह से सुरक्षित था। जांच के बाद वैज्ञानिकों ने बताया कि यह मैमथ लगभग 39000 साल पहले इस धरती पर रहता था।

animals frozen alive

Source : Wikipedia

उम्मीद है आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इस संबंध में आप हमें अपनी राय कमेंट करके जरूर बताएं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...